हरे धनिये के उपचार – Top 10 Health benefits of Coriander in Hindi | हरे धनिये के फायदे

Health benefits of Coriander – धनिये के सेवन से होने वाले फायदे

कोरिएंडर (coriander) को भारत में धनिया और अमेरिका एवम यूरोप के कुछ भागों में सिलेंट्रो (Cilantro)के नाम से जाना जाता है| इसका उपयोग व्यापक रूप से व्यंजनों में मसाले के रूप में और गार्निश के लिए किया जाता है| इसमें बहुत प्रकार के एसिड, खनिज और विटामिन्स पाए जाते है जो इसे बहुत फायदेमंद बनाते है| इसका उपयोग हम हरे धनिये एवम सूखे धनिये, दोनों के रूप में करते है| सूखा धनिया, साबुत और पाउडर दोनों रूप में काम में लिया जाता है| धनिये के बीजों से बने तेल का उपयोग भी बहुत लाभदायक है| आइये अब हम आपको बताते है धनिये के सेवन से होने वाले फायदों के बारे मे|

Top 10 Health Benefits of Coriander

 

 

१. वजन कम करने के लिये – आज विश्व में बहुत से लोग बढ़ते वजन से परेशान है और अगर आप भी उनमे से एक है तो ये जानना आपके लिए बहुत जरुरी है| अगर हम मेटाबोलिज्म बढ़ाने और वसा को जलाने वाले खाद्य पदार्थों का उपयोग करें तो वजन कम हो सकता है|

health benefits of coriander or cilantro - धनिये के फायदे

इसलिए यदि आप वजन कम करना चाहते है तो धनिये के बीजों का उपयोग करें| सबसे पहले तीन बड़े चम्मच धनिये के बीजों को एक गिलास पानी में उबालें| जब पानी की मात्रा आधे से कम हो जाये तो इसे छान लें और प्रतिदिन दो बार इसका सेवन करें|

२. थाइरोइड के उपचार हेतु – यदि आपको हाइपोथायरायडिज्म और हाइपरथायरायडिज्म जैसी थाइरोइड की समस्यायें है तो आपको धनिये के बीजों का सेवन करना चाहिए क्यूंकि इसका उपयोग करने से हार्मोन नियंत्रित होता है| इसमें उच्च प्रकार के विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो थाइरोइड की समस्या में बहुत लाभदायक होते हैं| इसके लिए आप धनिये का काढ़ा, धनिये की स्मूदी या धनिये के पानी का अपने आहार के रूप में उपयोग करें|

३. पाचन सम्बंधित समस्या के उपचार में – यदि आप पाचन सम्बंधित समस्या से ग्रसित है तो आपको धनिये का सेवन करना ही चाहिए| यह न सिर्फ सूजन को कम करने में मदद करता है बल्कि खराब पाचन तंत्र के कारण होने वाली समस्याओं जैसे गैस और चिड़चिड़ापन आदि से छुटकारा दिलाने में मदद करता है| इसके उपयोग से आँतों द्वारा पोषक तत्वों का बेहतर ढंग से अवशोषण होता है और हाज़मा सही रहता है| इसके लिए आप नारियल के दूध और ककड़ी अथवा तरबूज जैसे अन्य ठन्डे पदार्थों के साथ एक बड़ा चम्मच धनिये के बीजों को मिलाकर स्मूदी बना लें और सेवन करें|

४. एलर्जी के उपचार में – ठंडी तासीर होने से धनिया एलर्जी को दूर करने में बहुत सहायक होता है| यह एलर्जी के आम लक्षणों जैसे पित्ती, खुजली और सूजन को दूर करने में मदद करता है | इसका त्वचा पर उपयोग करने के लिए एक चम्मच शहद और आधा चम्मच पिसे हुए धनिये को मिलाकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को एलर्जी से प्रभावित क्षेत्र पर लगायें और पांच से दस मिनट के बाद धो लें|

health benefits of coriander or cilantro in allergy - धनिये के सेवन से होने वाले फायदे - एलर्जी के उपचार में

यदि आपके मुह या गले में सूजन है तो धनिये के बीजों की चाय आपके लिए बहुत ही लाभदायक होगी | इसके लिए आप एक कप पानी में एक छोटा चम्मच पिसे हुए धनिये के बीज उबालें और इसे गर्म – गर्म ही पी लें| स्वाद बढाने हेतु आप इसमें थोडा शहद भी डाल सकते हैं| आप धनिये के बीज को ठन्डे खीरे या अजवायन के डंठल के रस में मिला कर भी पी सकते है|

५. गठिया के उपचार में – धनिये के एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण के कारण इसका उपयोग गठिया के दर्द से राहत पाने के लिए भी किया जाता है| इसके लिए आप शीया मक्खन, नारियल का तेल या अपने पसंदीदा खुशबु रहित लोशन में आधा छोटा चम्मच धनिये के बीजों का पाउडर मिलाकर लेप लगायें| यह बहुत ही फायदेमंद होगा| धनिये के बीज का तेल भी गठिया के लिए लाभदायक होता है| इसके लिए आप एक बड़ा चम्मच नारियल का तेल, जैतून का तेल या अंगूर के बीजों के तेल में पांच बूँद धनिये का तेल मिलाकर अपने जोड़ों पर मालिश करें|

६. मासिक धर्म के अत्यधिक रक्तस्राव में – मासिक धर्म में होने वाले अत्यधिक रक्तस्राव से पीड़ित महिलाओं के लिए यह उपाय बहुत ही उपयोगी है| धनिये के बीजों को पानी में उबाल कर उस पानी का सेवन करना चाहिए क्यूंकि यह रक्तस्राव को नियंत्रित करता है|

health benefits of green coriander - seeds and powder help you in menstrual bleeding - धनिये के सेवन से होने वाले फायदे - मासिक धर्म के अत्यधिक रक्तस्राव में

धनिये में मौजूद आयरन रक्त की कमी को पूरा करने में मदद करता है और शरीर में उर्जा के स्तर को सुधारने में भी मदद करता है|

७. डायबिटीज के उपचार में – धनिया हमारे शरीर में इन्सुलिन की गतिविधि को सुचारू बनाये रखता है और रक्त में ग्लूकोस के स्तर को कम करता है| अंतस्रावी ग्रंथियों पर धनिये के उत्तेजक प्रभाव के कारण अग्नाशय में इन्सुलिन का स्राव बढ़ता है यह रक्त में शुगर के स्तर को तेजी से कम करता है इसलिए डायबिटीज में लाभदायक है| आप धनिया पाउडर या धनिये के बीजों का उपयोग करी, सूप, अचार और रस में कर सकते हैं| आप धनिये के बीजों के पानी का भी उपयोग कर सकते हैं|  इसके लिए आप दस ग्राम कूटे हुए धनिये के बीजों को पूरी रात पानी में भिगो कर रख दें और सुबह उठ कर उस पानी को पी लें|

७. हाई ब्लड प्रेशर के उपचार में  – एलडीएल कोलेस्ट्रोल को कम करने के अलावा धनिया उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है| धनिया पोटेशियम, मेग्नीसियम, कैल्सियम, मैंगनीज़ और लोहे का अच्छा स्त्रोत है| यह उच्च पोटेशियम और कम सोडियम के कारण ह्रदय धड़कने की दर और रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है|

९. आँखों के इन्फेक्शन में – धनिये के बीज में उच्च एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो आँखों में खुजली, लालिमा और सूजन को कम करने में मदद करते हैं| धनिये के बीज में एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं जो कंजंक्टिवाइटिस जैसे संक्रामक रोगों से आँखों की रक्षा करते हैं| अगर आपको कंजंक्टिवाइटिस की समस्या है तो धनिये के बीज को पानी में उबाल कर बनाये काढ़े से अपनी आँखों को धोयें| इसके अलावा आँखों की विभिन्न समस्याओं से छुटकारा पाने के लिये प्रतिदिन खाली पेट धनिये का सेवन करें|

१०. बाल झड़ने की समस्या में – धनिये का रस नए बालों के विकास में मदद करता है और बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा दिलाता है क्यूंकि इसमें आवश्यक विटामिन और प्रोटीन होते है जो बालों को पोषण देते है| धनिये के ताज़ा पत्तों का थोड़े से पानी के साथ पेस्ट बना कर शैम्पू करने से एक घंटा पहले सिर पर लगायें|

 health benefits of green coriander - seeds and powder help you in weight loss - how can i stop hair loss

प्रभावी परिणाम हेतु दो से तीन सप्ताह में इसका दो बार इस्तेमाल करें| धनिये के पत्तों को उबाल कर उसे ठंडा करके भी आप अपने बालों को धो सकते हैं|